Sun. May 19th, 2024

आम आदमी पार्टी की बढ़ी मुश्किलें , दलित नेता राजकुमार आनंद ने मंत्री पद से दिया इस्तिफा

arvind kejriwal arrested (3)

Aam Aadmi Party के मुश्किलों का दौर है कि थमने का नाम ही नहीं ले रहा। जहां AAP के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद्र केजरीवाल ( Arvind Kejriwal ) समेत सतेंद्र जैन और मनिष सिसोदिया पहले से ही जेल में बंद हैं,  तो वहीं अब पार्टी से नेताओं का इस्तिफा देना भी शुरू हो गया है। दिल्ली सरकार में मंत्री और दलित चेहरा राजकुमार आनंद ने मंत्री समेत पार्टी की सभी पदों से बुधवार को इस्तिफा दे दिया है। 

दरसल राजकुमार आनंद ने प्रेसवार्ता कर के अपने इस्तिफे का कारण बताते हुए कहा,मैंने अपने पद से इसलिए इस्तिफा दिया,क्यूकि पार्टी में दलित प्रतिनिधित्व की उपेक्षा हो रही थी। 

पिछले साल हुई थी ED की कार्रवाई 

आपको बताते चले कि दिल्ल सरकार में एससी/एसटी मंत्री और आप के बड़े  दलित नेता राजकुमार आनंद के आवास पर पिछले साल नवंबर में प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली शराब घोटाले से जुड़े मामले में रेड मारी थी। 

इस्तिफे के बाद BJP और AAP में जुबानी जंग शुरू

राजकुमार आनंद (Raaj Kumar Anand ) के इस्तिफे के बाद आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है। जहां ‘आप’ ने कहा कि राजकुमार दवाब नहीं झेल पाएं और इस्तिफा दे दिया तो वहीं भाजपा ने कहा कि भ्रष्टाचार के कारण AAP के नेता पार्टी छोड़ रहें हैं। 

दरसल पार्टी कार्यालय में प्रेसवार्ता करते हुए संजय सिंह ने कहा, “ मुझे लगता है कि अब ये सवाल पूछना बंद हो जाएगा कि ऑपरेशन लोटस का सबूत क्या है ? Arvind Kejriwal की गिरफ्तारी सिर्फ आम आदमी पार्टी को तौड़ने के किया गया है। आप देखिएगा कि कुछ दिनों में वो भी वहीं मिलेंगे”। 

तो वहीं इस आरोप पर दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ‘विरेंद्र सचदेव’ ने पलटवार करते हुए कहा, “राजकुमार आनंद कि इस्तिफे के बाद ये साफ हो गया कि आप के नेता अपनी अंतरआत्मा का आवाज सुनकर पार्टा से अपने आपको दरकिनार कर रहे हैं”। 

दलित चेहरा के हटने से पार्टी को होगा बड़ा नुक्शान: विशेषज्ञ 

कई सारे राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि राजकुमार आनंद के इस्तिफे के बाद पार्टी को बड़ा नुक्शान हो सकता है क्यी कि आनंद आप में एक बड़े दलित चेहरे थे । आनंद के इस्तिफे के बाद AAP में कोई भी बड़ा चेहरा नहीं रह गया है। 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *