Sun. May 19th, 2024

INCOME TAX RULES : अप्रैल से बदल जाएंगे टैक्स नियम, जानें क्या होगा फायदा?

income tax new rules explainerincome tax new rules

INCOME TAX RULES : 1 अप्रैल आने ही वाला है। इस दिन से नये वित्तीय वर्ष का श्री गणेश हो रहा है. अब कुछ नियम भी बदल रहे हैं. इनमें सबसे अहम है टैक्स नियमों में बदलाव. क्या है बदलाव, आपकी जेब पर क्या पड़ेगा असर?

1 अप्रैल व्यक्तिगत वित्तीय योजना के लिए एक महत्वपूर्ण दिन माना जाता है। क्योंकि इसी दिन से भारत में नया वित्तीय वर्ष शुरू होता है. करदाता, आम लोग इस दिन से टैक्स बचत से लेकर नए निवेश की योजना बनाने तक हर चीज पर सलाह लेते हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में देश का अंतरिम बजट पेश किया। पूर्ण बजट जुलाई महीने में पेश किया जा सकता है. उस वक्त टैक्स नियम बदल सकते हैं. फिलहाल 1 अप्रैल से इन टैक्स नियमों में बदलाव हो रहा है. इसका आपकी बचत और निवेश पर क्या असर पड़ेगा?

1 अप्रैल से बदल जाएंगे कौन से टैक्स नियम

नई कर प्रणाली

देश में अब नई टैक्स व्यवस्था लागू हो गई है. इसलिए यदि आप पुरानी कर प्रणाली के तहत आयकर का भुगतान कर रहे हैं, तो ध्यान देने वाली बात यह है कि आपको हर साल 1 अप्रैल के बाद अपनी कर प्रणाली चुननी होगी। अन्यथा नई कर प्रणाली स्वत: लागू हो जायेगी.

50,000 कर राहत

अगर आप अगले वित्त वर्ष 2024-25 में नई टैक्स व्यवस्था अपनाते हैं तो आपको 50,000 रुपये के स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा मिलेगा. यह सुविधा पहले केवल पुराने टैक्स सिस्टम में ही उपलब्ध थी। यह नियम 1 अप्रैल 2023 से प्रभावी है. करदाताओं को 1 अप्रैल, 2024 से नई कर प्रणाली अपनाने का विकल्प दिया गया है। तो आपकी 7.5 लाख रुपये तक की आय टैक्स फ्री होगी.

टैक्स छूट के नियमों में यह बदलाव

नए टैक्स सिस्टम में 1 अप्रैल 2023 से ही टैक्स छूट की सीमा बढ़ा दी गई है. अब नई टैक्स व्यवस्था के तहत 2.5 लाख की बजाय 3 लाख रुपये तक की आय पर शून्य टैक्स है. जबकि नियम-87ए के तहत टैक्स में छूट मिलती है, इसे बढ़ाकर 5 लाख की जगह 7 लाख रुपये कर दिया गया है. पुराने टैक्स सिस्टम में शून्य टैक्स सीमा 2.5 लाख रुपये और टैक्स छूट 5 लाख रुपये है.

टैक्स ढांचे में बदलाव

3 लाख तक की आय पर 0% टैक्स
3 से 6 लाख तक की आय पर 5% टैक्स, (अब 7 लाख तक टैक्स छूट और 50,000 रुपये के स्टैंडर्ड डिडक्शन का लाभ)
6 लाख से 9 लाख तक की आय पर 10% टैक्स
9 लाख से 12 लाख तक की आय पर 15% टैक्स
12 लाख से 15 लाख तक 20% टैक्स
15 लाख से ऊपर की आय पर 30% टैक्स

Richest person in India देश में बढ़े 1,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति वाले धनकुबेर, पांच साल में 75 फीसदी का इजाफा

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *