Thu. Jun 20th, 2024

POK: में क्यों भड़के लोग, भारत ने पहली बार दिया आधिकारिक बयान

Randhir JaiswalImage Source: ANI X

POK: पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के पीओके क्षेत्र में इस समय संघर्ष देखने को मिल रहा है। यह संघर्ष स्थानीय प्रशासन और यहां के लोगों के बीच चल रहा है. आटे की कीमतें और बिजली की दरें आसमान छूने के कारण लोग सड़कों पर उतर आए हैं। सुरक्षा गार्डों की गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई और कुछ घायल हो गए.

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में पिछले कई दिनों से प्रशासन के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन चल रहा है. इसके चलते पीओके में नागरिकों और जवानों के बीच टकराव हो रहा है. पीओके में प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षा बलों की गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई और छह घायल हो गए। अब भारत ने इस संबंध में आधिकारिक बयान जारी किया है. पीओके में चल रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जयसवाल ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पीओके के संसाधनों को लूटा जा रहा है, जिससे वहां के लोगों में गुस्सा है.

विदेश मंत्रालय ने कहा, ”पिछले कुछ दिनों में विरोध प्रदर्शन की खबरें आई हैं. इसलिए वहां के संसाधनों को लूटा जा रहा है. लोगों को उनके संसाधनों से वंचित किया जा रहा है. वहां के प्रशासन द्वारा लोगों का शोषण किया जा रहा है. जम्मू, लद्दाख और कश्मीर भारत के अभिन्न अंग हैं और रहेंगे।

पीओके में आंदोलनकारियों के कारण गेहूं के आटे की कीमतें आसमान छू रही हैं। यशिया बिजली के दाम बढ़ गए हैं. यहां के नागरिकों ने इसका विरोध किया है. यहां संघर्ष बढ़ने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने तुरंत इस क्षेत्र के लिए 23 अरब रुपये के अनुदान को मंजूरी दे दी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने सब्सिडी का ऐलान कर यहां के लोगों को साधने की कोशिश की. अब 40 किलो आटे पर सब्सिडी दर 3,100 पैक से बढ़ाकर 2,000 पैक कर दी गई है. खबरों के मुताबिक, 100, 300 और 300 यूनिट से अधिक बिजली दरों में क्रमश: 3 रुपये, 5 रुपये और 6 रुपये प्रति यूनिट की कटौती की गई है.
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर बयान दिया था. उन्होंने कहा, ‘फारूक अब्दुल्ला हमें डराते हैं कि पीओके न मांगें, उनके (पाकिस्तान) पास परमाणु बम हैं।’ ये 140 करोड़ लोगों का महान भारत है, ये किसी से नहीं डरता. मैं आज सीता माता की धरती पर जाकर कहता हूं, पीओके भारत का है, भारत का ही रहेगा और हम इसे लेकर रहेंगे।’

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *