Mon. May 20th, 2024

पाकिस्तान के दूसरे सबसे बड़े नौसैनिक एयरबेस पर आतंकी हमला

ISLAMIC TERRORISM

आतंकवादियों ने सोमवार रात पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में तुरबत अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और एक नौसैनिक एयरबेस पर हमला किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने नौसैनिक एयरबेस पर हमले को कामयाब नहीं होने दिया. उन्होंने चारों आतंकियों का सफाया कर दिया. तुर्बत में पीएनएस सिद्दीकी पाकिस्तानी नौसेना का दूसरा सबसे बड़ा एयरबेस है। आतंकियों ने इस एयरबेस पर सीधी फायरिंग शुरू कर दी. कई विस्फोट सुने गए. प्रतिबंधित बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी, बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (बीएलए) की माजिद ब्रिगेड ने तुर्बत नेवल एयरबेस पर हमले की जिम्मेदारी ली है। मजीद ब्रिगेड ने हमेशा बलूचिस्तान प्रांत में चीनी निवेश का विरोध किया है।

मजीद ब्रिगेड ने यह भी आरोप लगाया कि चीन और पाकिस्तान क्षेत्र के प्राकृतिक संसाधनों का मनमाने ढंग से उपयोग कर रहे हैं। द बलूचिस्तान पोस्ट के मुताबिक, बीएलए ने दावा किया कि हमलावर एयरबेस में घुस गए. इसके अलावा इस एयर बेस पर एक चीनी ड्रोन भी तैनात है. हमले के बाद स्वास्थ्य अधिकारी ने टीचिंग हॉस्पिटल टरबत में आपातकाल की घोषणा कर दी। सभी डॉक्टरों को तत्काल ड्यूटी पर बुला लिया गया।

एक हफ्ते में यह दूसरा हमला है

बीएलए की माजिद ब्रिगेड ने तुरबत में एक हफ्ते में दूसरा और इस साल तीसरा हमला किया है. इससे पहले 29 जनवरी को ग्वादर में हमला हुआ था. ऐसा ही एक हमला 20 मार्च को पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह पर हुआ था. आतंकियों ने फायरिंग कर दी. कई विस्फोट हुए. लड़ाई में दो पाकिस्तानी सैनिक और आठ आतंकवादी मारे गए।

यह बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) का हिस्सा है।

पाकिस्तान के इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के मुताबिक, आठ आतंकवादियों ने पोर्ट अथॉरिटी कॉलोनी में घुसने का प्रयास किया। लेकिन सुरक्षा बलों ने उनकी योजना को विफल कर दिया. चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के लिहाज से ग्वादर बंदरगाह अहम है. इस बंदरगाह पर चीन का नियंत्रण है. अरबों डॉलर खर्च कर सड़कें और बिजली परियोजनाएं शुरू की जा रही हैं। यह बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) का हिस्सा है।

Terrorist Attack in Mascow: पुतिन ने आक्रामक अंदाज में कहा, कसम खाते हैं, किसी को नहीं छोड़ेंगे

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *