Sun. May 19th, 2024

नायाब सिंह सैनी : बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष से लेकर हरियाणा के सीएम तक

Nayab_Singh_Saini

हरियाणा राज्य में मंगलवार को बड़ा सियासी भूचाल आ गया. मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर और उनकी कैबिनेट के इस्तीफे के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नायब सिंह सैनी को मुख्यमंत्री पद की कमान सौंपी गई है. जैसे ही खट्टर और उनके मंत्रिमंडल ने राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय को इस्तीफा दिया, ऐसी अटकलें हैं कि वह लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। इसके बाद राजभवन में नायब सिंह सैनी का शपथ समारोह संपन्न हुआ.

नायब सिंह सैनी को सर्वसम्मति से चुना गया विधायक दल का नेता

खट्टर के इस्तीफे के बाद, नायब सिंह सैनी को उनकी और हरियाणा भाजपा प्रभारी बिप्लब देव की उपस्थिति में सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया। बताया जा रहा है कि दोनों सत्ताधारी पार्टियों भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी के बीच पहले मंत्रिमंडल विस्तार और फिर लोकसभा के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर बेहद असहमति है.

खट्टर कैबिनेट में 14 मंत्री थे. जननायक जनता पार्टी से उप मुख्यमंत्री दुष्यन्त चौटाला सहित तीन मंत्री थे। उन्होंने भी खट्टर के साथ इस्तीफा दे दिया. मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल के मुख्यमंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह आज संपन्न हो गया.

मनोहर लाल के करीबी माने जाते हैं नायब सिंह सैनी

इससे पहले विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद नायब सिंह सैनी ने हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से मुलाकात की और राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया. नायब सिंह सैनी मनोहर लाल के करीबी माने जाते हैं । उन्होंने सैनी का का नाम आगे बढ़ाया था, बाद में अब उन्हें सर्वसम्मति से मुख्यमंत्री पद के लिए चुन लिया गया. गौर तलब है कि भाजपा जननायक जनता पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी, जिसमें दुष्यंत चौटाला को डिप्टी सीएम थे. इस गठबंधन में दरार पड़ने की खबरें आ रही थीं।

कौन हैं नायब सिंह सैनी?

ओबीसी समुदाय के नायब सिंह सैनी (54) कुरूक्षेत्र सीट से सांसद हैं। पिछले साल अक्टूबर में बीजेपी ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया था. नायब सिंह 1996 में बीजेपी में शामिल हुए. संगठन निर्माण से अपना काम शुरू करने के बाद वह धीरे-धीरे भाजपा में वरिष्ठ नेता के पद तक पहुंच गए। नायब सिंह सैनी 2002 में अम्बाला जिले के भाजपा  युवा मोर्चा के जिला महासचिव बने। फिर 2005 में उन्हें अंबाला का जिला अध्यक्ष चुना गया। 2014 में वह नारायणगढ़ विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने। 2016 में उन्हें कैबिनेट में शामिल किया गया था. 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान सैनी ने कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार को 3.83 लाख वोटों के अंतर से हराया था.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *