जानिए, पूर्व PM लाल बहादुर शास्त्री की सादगी के  किस्से 

ईमानदारी और सादगी थे जीवन मूल्य

सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल नहीं करते थे

पत्नी के लिए नहीं ली महंगी साड़ी

घर से हटवा दिया था सरकारी कूलर

फटे कुर्ते से बनवाते थे रुमाल

अकाल के दिनों में रखा था एक दिन का व्रत

शिक्षा में सुधारों के थे हिमायती

शास्त्री जी की टेबल पर रहती थी हरी दूब